उत्तर प्रदेशवाराणसी

वाराणसी के सभी 27 थानों में बने महिला हेल्पडेस्क की हुई विधिवत शुरुआत

  • नारी सुरक्षा को लेकर योगी सरकार का बड़ा कदम
  • मिशन शक्ति के तहत प्रत्येक थानों में बनाया गया महिला हेल्पडेस्क
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौक थाना में स्थापित हेल्पडेस्क से किया वर्चुअली संवाद
  • सीएम ने सरस्वती कॉलेज की प्रिंसिपल गिरीशा सिंह से किया वर्चुअली संवाद
  • स्थापित महिला हेल्प डेस्क नारी सुरक्षा नारी सम्मान में अहम भूमिका निभाएगा- योगी आदित्यनाथ
  • नारी स्वावलंबन को सुनिश्चित किए जाने में कोई कोर कसर न छोड़ा जाए- योगी आदित्यनाथ

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर के 1535 पुलिस थानों में स्थापित महिला हेल्पडेस्क का वर्चुअली शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वाराणसी के चौक थाना क्षेत्र स्थित महिला हेल्प डेस्क से संवाद किया। जिसमें एसएसपी अमित पाठक ने जनपद में महिला हेल्पडेस्क की व्यवस्थाओं की जानकारी दी। सरस्वती कॉलेज की प्रिंसिपल श्रीमती गिरिशा सिंह ने मिशन शक्ति के तहत पुलिस द्वारा उनके स्कूल में जाकर बालिकाओं को जागरूक करने एवं महिला सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन की शासन की नीति व भावना बताने तथा मिशन शक्ति के हो रहे कार्यों एवं उनसे नारी सशक्तिकरण के परिणामों पर मुख्यमंत्री से संवाद किया।

 Women's helpdesk set up in all 27 police stations in Varanasi

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि महिलाओं संबंधी अपराध व चैलेंज दो प्रकार के हैं घर के व बाहर के। दोनों के लिए बालक/बालिकाओं को जागरूक करना है। जरूरत पर संवेदनशील बनाना है। सरकार के विभिन्न हेल्पडेस्क नंबरों को हर नारी व जनमानस जाने ताकि जरूरत पर फोन करें और उसे सहायता मिले। यह भी जागरूक करें कि हेल्प डेस्क पर फेक कॉल कतई नहीं करें, उसके दुष्परिणाम हैं। मिशन शक्ति लोगों के जीवन का हिस्सा बने। मुख्यमंत्री ने कहा कि 17 अक्टूबर से क्रियान्वित मिशन शक्ति के सात दिनों में समाज के विभिन्न तबकों के बीच जाकर समस्याओं के समाधान तलाशने का कार्य हुआ है। प्रथम चरण में जागरूकता का कार्यक्रम हो रहा है। पुलिस समाज में सुरक्षा व समस्या के संबंध में सबसे पहले आती है। एक सप्ताह में ही पुलिस के कार्य महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलंबन हेतु धरातल पर दिखाई देने लगे हैं। समाज के विभिन्न संगठनों, संस्थाओं, समाजसेवियों व गणमान्य नागरिकों का इससे जुड़ाव हुआ है। जो इसे तेजी से गति प्रदान कर रहा है। बच्चियों एवं महिलाओं में आत्मविश्वास बढ़ा है। मनचले व शोहदों पर पुलिस की कार्यवाही हुई। 24 विभागों के साथ अंतर्विभागीय समन्वय की यह वृहद अभियान है। ऐसे समाचार आ रहे हैं कि माननीय न्यायालयों द्वारा महिला अपराध संबंधी मामलों में दंडात्मक कार्यवाहियां हो रही हैं। जनपद की आवश्यकताओं के अनुरूप कार्य योजना बनकर कार्य हो रहा है, इससे अच्छी सफलता मिलेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस थानों के बाद अगले चरण में तहसील, औद्योगिक संस्थानों, स्कूल/कॉलेजों में हेल्प डेस्क पहुंचेगा। बालिका, महिला निःसंकोच हेल्पडेस्क पर अपनी बात कर सकेंगी। महिला कर्मी सुनेगी और कार्यवाही होगी। हेल्प डेस्क पर नवीनतम तकनीकी का उपयोग, सीसीटीवी, मोबाइल फोन, बैठने की व्यवस्था, थानों में पिंक टॉयलेट आदि सुविधाएं होंगी। इसमें समुचित प्रशिक्षण दिया गया है। शक्ति पर्व नवरात्रि से शुरू 180 दिनों का मिशन शक्ति अभियान प्रदेश की नारी की सुरक्षा, सम्मान स्वावलंबन को सफलता के साथ ऊंचाइयों को पहुंचायेगा। प्रदेश की नारियों में आत्मविश्वास के साथ शक्ति झलकेगी। विभिन्न हेल्प डेस्क के नंबर इस प्रकार है: 1090-हेल्पलाइन, 181-महिला हेल्पलाइन, 1076-मुख्यमंत्री हेल्पलाइन, 112-पुलिस आपातकालीन सेंटर, 1098-चाइल्ड लाइन व 102-स्वास्थ्य सेवा। यह नम्बर सभी थानों, विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शित है। चौक थाना की महिला हेल्पडेस्क का मोबाइल नंबर 7839856997 हैं।

 Women's helpdesk set up in all 27 police stations in Varanasi

इस अवसर पर प्रदेश की महामहिम राज्यपाल महोदया आनंदीबेन पटेल ने वर्चुअल संबोधन में महिला हेल्प डेस्क शुभारंभ कार्यक्रम महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में प्रदेश सरकार द्वारा उठाया गया अच्छा व बड़ा कदम बताते हुए प्रदेश की महिलाओं को बधाई दी। साथ ही इस अवसर पर मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, एडीजी बृजभूषण, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, आईजी विजय सिंह मीणा, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, एसएसपी अमित पाठक सहित विभिन्न स्कूलों एवं संगठनों की महिला प्रतिनिधिगण, गणमान्य नागरिक आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button