उत्तर प्रदेशवाराणसी

सीरत कमेटी ने किया जलसे का आयोजन, स्वर्गीय गफ्फार हुसैन साहब को दी गई श्रद्धांजलि

वाराणसी। सीरत कमेटी के संयोजक ने नदेसर में एक जलसे का आयोजन किया l जिसका मुख्य उद्देश्य मुल्क में भाईचारा, समृद्धि, प्यार बनाना और करोना जैसी महामारी से इस मुल्क को बचाना था l सीरत कमेटी के संयोजक 14 वर्षों से इस तरह के कार्यक्रम संचालन करते आ रहे हैं l स्वर्गी गफ्फार हुसैन साहब को श्रद्धांजलि देते हुए उनके लिए दुआ की गई कि ईश्वर उनके आत्मा को शांति प्रदान करें।

The Serat Committee organized the procession, paid tribute to the late Ghaffar Hussain Saheb in aligadh

गफ्फार साहब का यह उद्देश्य था कि इस कमेटी के माध्यम से गरीब पिछड़ा दबा कुचला जिन तक सरकारी सेवाएं नहीं पहुंच पा रही है। उन तक सुविधा सरकारी पहुंचाया जाए और उनकी समस्या को तत्कालिक रूप से हल किया जाए। गफ्फार साहब ने इस कमेटी को हर तरीके का फायदा भी पहुंचाया और कमेटी को मजबूत बनाए रखने के लिए काम किया। आज के आयोजन की अध्यक्षता गुलाम मोहिउद्दीन सिद्दीकी साहब ने किया। संचालन अब्दुल्ला खालिद ने किया और शहर में शायर में अहमद आज़मी शमीम दास पूरी गुलाम-ए-मुस्तफा और दिगर लोग रहे। दोपहर में बच्चों का नातिया मुकाबला का आयोजन भी किया गया।

The Serat Committee organized the procession, paid tribute to the late Ghaffar Hussain Saheb in aligadh

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता मौलाना रब्बानी साहब जामा मस्जिद मडवाडी रहे, जिनका स्वागत उसके द्वारा समाजसेवी बनारस अबू हासिम ने किया। समाजसेवी बनारस एडवोकेट अबू हासिम ने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य समाज में शिक्षा व बेरोजगारी व गरीब मजदूर मजलूम समाज मे सबको एक सम्मान नजर से देखा जाए और जो भी शिक्षा के क्षेत्र में कमियां होती है उसको पूरा करने का प्रयास संस्था द्वारा किया जाता है साथ ही साथ सरकार द्वारा नए-नए योजना की स्कीम जो हमारे समाज के सभी लोगों तक पहुंच नहीं पाता है उसको हम नौजवान साथी वह हमारे समाज के सभी साथी उसकी जागरूकता बढ़ाएं और सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं हैं जो हमारे गरीब भाई मजदूर भाई मजलूम भाई सुनकर उसका फायदा नहीं उठा पाता है और संस्था जिसके लिए कोई नहीं होता उसकी मदद करता है। रक्त की इंतजाम से लेकर के मरीज अस्पताल और इन जैसे तमाम समस्याओं का समाधान करने का प्रयास होता रहता है। वही कमेटी के सदस्य अध्यक्ष अब्दुल्ला खालीद सेक्रेटरी हाफिज बकर और खजांची शेती खान रहे और मेंबर समाज सेवी एड0अबू हासिम, शाहनवाज हाफिज शाहनवाज मोहम्मद अली शाहिद बालक उद्दीन मौलाना फखरुद्दीन मदरसा खानम जानम के प्रबंधक लोदी साहब मौजुद रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button