उत्तर प्रदेशदेशवाराणसी

नुक्कड़ नाटक के माध्यम से दिया गया बेटियों की शिक्षा एवं सुरक्षा का संदेश

शराब बिक्री के खिलाफ बेटियों और महिलाओं ने उठाई आवाज

वाराणासी सेवापुरी रोहनियाँ : आशा ट्रस्ट, लोक समिति, प्रेरणा कला मंच वाराणसी द्वारा बालिकाओं की शिक्षा सुरक्षा के लिये आयोजित जनजागरूकता कार्यक्रम में प्रेरणा कला मंच के कलाकारों ने बुधवार को रोहनियाँ क्षेत्र के चंदापुर,असवारी पयागपुर और हरपुर गाँव में बेटियों की शिक्षा, सुरक्षा व महिला हिंसा, लैंगिक भेदभाव पर नुक्कड़ नाटक किया। महिला हिंसा और लड़कियों की शिक्षा पर आधारित नुक्कड़ नाटक ‘बढ़िये और बढाइये व कमला का कमाल’ के मंचन में कलाकारों ने जीवंत अभिनय कर दर्शकों के दिलों को भी झकझोर कर रख दिया।

the-message-of-safety-of-daughters-delivered-through-street-plays-in-varanasi

वही कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या को रोकने व बेटी बचाओ का संदेश दिया। कलाकारों ने कन्या भ्रूण हत्या को रोकने व महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के प्रति जागरूक किया। इस दौरान गाँव की महिलाओं ने कहा कि महिलाओं की भारतीय समाज में आदिकाल से पूजा होती रही है, लेकिन पुरुष प्रधान सोच होने के कारण महिला को वो सम्मान नहीं मिल पा रहा। उन्होंने कहा कि बेटी ही पढ़-लिखकर दो कुल का नाम रोशन करती हैं और वंश को बढ़ाती है। बेटी के महत्व को तभी समझा जा सकता है, जब एक सास, बहू के साथ मां बनकर खड़ी हो। कहा कि हम नवरात्र में कन्याओं का पूजन करते हैं, इसके बावजूद कन्या भ्रूण हत्या को अंजाम देते हैं। इस सोच को बदलना होगा। बेटियों के मान-सम्मान, स्वास्स्थ्य व सुरक्षा पर बेटों के समान अवसर प्रदान करना चाहिए।

the-message-of-safety-of-daughters-delivered-through-street-plays-in-varanasi

इस अवसर पर लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा नाटक का उद्देश्य समाज में कन्या भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक कुरीतियों से लोगों को अवगत कराना व उन्हें समझाना कि बेटी किसी पर बोझ नहीं हैं। वह भी सामाजिक जीवन का आधार है और बेटियों को भी शिक्षा का अधिकार मिलना चाहिए। ताकि वह एक सम्मानपूर्ण जीवन व्यतीत कर सके। पॉक्सो जैसे मजबूत कानून के रहते हुए भी आज औरतो, लड़कियां, बच्चियों की सुरक्षा और सम्मान की जिम्मेदारी के प्रति सत्ता और प्रशासन की भूमिका में कोई बदलाव नहीं आ रहा है। कार्यक्रम में शामिल गाँव की सैकड़ों महिलाओं और लड़कियों ने प्रधानमंत्री से महिला हिंसा रोकने, प्रदेश में शराब बन्दी तथा लैंगिक भेदभाव को रोकने की अपील किया।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से नन्दलाल मास्टर, मैनब बानो,सीमा, शकुंतला, सुनील,राजेश गौंड़,पंचमुखी, अजीत कुमार, रंजीत, संदीप,अजय पाल आदि लोग शामिल रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button