उत्तर प्रदेशचंदौली

लीजिए! फिर सामने आई एआरटीओ की कारस्तानी, रुपये लेकर ट्रकों को छोड़ा

चंदौली। जिले का उप संभागीय परिवहन विभाग शासन के रडार पर है। अन्य जनपदों के साथ यहां भी अवैध वसूली की जांच चल रही है। बावजूद ट्रकों से वसूली के मामले एक के बाद एक सामने आ रहे हैं। शनिवार को ट्रक चालक और उपाध्यक्ष पूर्वांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन वाराणसी के बीच बातचीत का एक आडियो वायरल हुआ। दावा किया जा रहा है कि चंदौली चकिया मोड़ पर सीमेंट लदे ट्रकों को एआरटीओ और उसके सिपाही ने एक हजार रुपये लेने के बाद छोड़ा। कर्मचारी ने ट्रकों का कागज ले लिया। साफ कहा कि या तो धर्मकांटा कराओ या पैसे दो। अंत में चालकों ने एक-एक हजार रुपये देकर अपनी जान छुड़ाई। बहरहाल मामला परिवहन आयुुक्त तक पहुंच चुका है। उपाध्यक्ष पूर्वांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन प्रमोद सिंह ने शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। यह भी कहा है कि ट्रक चालक कर्मचारी और एआरटीओ की पहचान करने को भी तैयार है।

आरोप है कि शनिवार को सुबह लगभग साढ़े दस बजे चंदौली (चकिया मोड़) पर एआरटीओ ट्रकों को चेक कर रहे थे, उसी समय ट्रक संख्या UP65CT 2185, और UP66T 1015 (सीमेंट लोड) कर जा रहे थे। कर्मचारी ने ट्रकों को रोककर पेपर ले लिए। ट्रक ड्राइवर से कहा कि एक-एक हजार रुपये दो नहीं तो धर्मकांटा करावाऊंगा। ड्राइवरां के काफी अनुनय विनय करने के बाद भी उक्त सिपाही ने एक– एक हजार रुपये लेकर ही ट्रक को छोड़ा। प्रमोद कुमार सिंह उपाध्यक्ष पूर्वांचल ट्रक ओनर्स एसोसिएशन वाराणसी ने परिवहन आयुक्त से शिकायत करते हुए कहा है कि ड्राइवर और मुझसे हुई वार्ता की रिकॉर्डिंग सुनें। सिपाही और एआरटीओ की पहचान करने के लिए ड्राइवर तैयार है। प्रमोद सिंह का कहना है कि अवैध वसूली का खेल चंदौली, मिर्जापुर, वाराणसी, भदोही आदि जिलों मे चल रहा है।

 Take it ARTO carriage surfaced again, left trucks with money in chandauli

आरएस यादव प्रकारण से भी नहीं चेत रहा विभाग
पूर्व एआरटीओ आरएस यादव प्रकरण प्रदेश के सबसे बड़े भ्रष्टाचार के मामलों में शामिल हैं। हाईवे और बिहार बार्डर होने के कारण यहां अवैध वसूली भी धड़ल्ले से जारी है। अवैध वसूली के इसी खेल ने आरएस यादव को सलाखोंके पीछे पहुंचा दिया। लेकिन विभाग अभी की इससे सबक नहीं ले रहा। आरएस यादव के जाने के बाद जिनकी नियुक्ति हुई वह अभी भी अंगद के पांव की तरह जमे हुए हैं। विभाग सरकार की भ्रष्टाचार विरोधी नीतियों की धज्जियां उड़ा रहा है। जनता ठगी जा रही है और लोगों में आक्रोश पनप रहा है।

Show More

Related Articles

Back to top button