उत्तर प्रदेशमैनपुरी

सात माह की गर्भवती महिला के साथ दबंगों ने की मारपीट, उपचार के दौरान हुई मौत

मैनपुरी। जनपद के मोहल्ला अग्रवाल निवासि सात माह की गर्भवती एक महिला की उस समय नामजद दबंगों ने मारपीट कर दी थी, जब वह अपनी बच्ची को बचाने के लिए दबंगों से भीड़ गई। दबंगों ने महिलाओं को इतना मारा-पीटा कि अब तक महिला उठाने की हालत में नही थी। इलाज में लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद भी महिला चारपाई से उठने के लिए मजबूर रही। कोतवाली पुलिस की शिथिल कार्रवाई के चलते दबंग आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं और पीड़ित परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पत्नी के इलाज से व्याकुल पति ने मीडिया को बताया था कि अब उसके पास अपनी पत्नी के इलाज के लिए कुछ भी नहीं बचा है जिससे वह अपनी पत्नी का इलाज करा सके।

 Seven months pregnant woman was attacked by bullies, died during treatment in mainpuri

पीड़िता का पति अपने पांच बच्चों के साथ पत्नी को हाथ ठेल पर लिटा कर न्याय की आस में पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर कई बार चक्कर भी लगाए जहां उसने क्षेत्राधिकारी अभय नारायण राय को आपबीती भी सुनाई। उन्होंने पीड़ित को न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया था। दबंग आरोपी प्रदुम रहे हैं जिनकी गिरफ्तारी के लिए डीएम साहब से भी एक बार गुहार लगा चुका था लेकिन उसे न्याय की उम्मीद कहीं नहीं दिखाई दी। पीजीआई सैफई में इलाज के दौरान बृजेश की पत्नी प्रीति ने दम तोड़ दिया जिसका शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को लेकर मैनपुरी पहुंचे। सात बजे करीब करहल चौराहे स्थित विशाल मेगा मार्ट के सामने शव रखकर जाम लगा दिया। एक घंटे तक जाम लगा रहा जिस बीच वाहनों की लंबी कतार लग गई।

 Seven months pregnant woman was attacked by bullies, died during treatment in mainpuri

मौके पर पहुंची पुलिस सीओ सिटी अभय नारायण राय ने सब को हटाए जाने को लेकर परिजनों से काफी देर गुहार लगाई जिसके बाद वह नहीं माने तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर कर शव को हटाकर जाम खुलवा दिया है। सोचिने की बात तो ये है जब ब्रजेश की पत्नी की मृतु पर जाम खुलवाने के लिए पुलिस ने बल का प्रयोग किया तो एक बड़ी बात तो ये है कि पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए क्यों नही किया गया।

Show More

Related Articles

Back to top button