अलीगढ़उत्तर प्रदेश

सरकारी संपत्ति पर कुंडली मारकर बैठा एसडीओ, भ्रष्टाचार का सहयोगी बना जेई

अलीगढ़। जिले में जेई का एक और कारनामा सामने आया है जहां एसडीओ के साथ मिली भगत कर बिजली विभाग को लाखों रुपये का चूना लगाया है। एसडीओ सतवीर सिंह विद्युत विभाग की सम्पति पर कुंडली मार कर बैठे है। नौकरी में तैनात होने के बाद से इनका तबादला नहीं हुआ। पद का दुर्पयोग कर वे अपने निजी खेत में सरकारी पोल व अन्य सामान गड़वाये है। मुख्यमंत्री के यहां से आई जांच को आलाधिकारियों ने दबाकर रखा हुआ है, इन्हें योगी के किसी अधिकारियों का कोई ख़ौफ़ नहीं है।

SDO sitting on government property after killing horoscope, JE became an ally of corruption in aligadh

दरअसल, अलीगढ़ में तैनात जेई चंचल शर्मा व एसडीओ सतवीर सिंह ने मिलकर विभाग को लाखो का चूना लगाया है। एसडीओ सतवीर सिंह ने अपने पद का दुर्पयोग करते हुए ग्रह जनपद मथुरा के मिठौली गाँव स्थित स्वयं के कई बीघा खेत को भारी मात्रा में सरकारी संपत्ति के विद्युत पोल कटवा कर लगवा दिए हैं। जिनपर विभाग के ही कटीले तार (फेंसिंग) भी खिंचवा दी है। जिसमें स्वर्णजयंती नगर बिजली घर पर तैनात जेई चंचल शर्मा (जूनियर इंजीनियर) ने सहयोग करते हुए स्टोर में रखे विद्युत पोल और फेंसिंग को ट्रैक्टर में भरवा कर करीब आठ संविदाकर्मियों की मदद से पहुँचवाने से लेकर गड़वाने तक का कार्य करवाया। इतना ही नहीं खेत पर बने गेट को भी सरकारी संपत्ति एलएनटी का बनवाया। इस भ्रष्टाचार मामले में सरकार की छवि खराब होते देख भाजपा के महानगर उपाध्यक्ष संजय गोयल ने विभागीय अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर की जिसमें शासन से जांच की आई आदेशों को जिले के उच्चाधिकारियों द्वारा दबा दिया गया है

SDO sitting on government property after killing horoscope, JE became an ally of corruption in aligadh

वहीं इस मामले पर एसई इसके जैन ने तीन सदस्यी टीम बना कर जांच करने की बात कर रहे है। अधिकारी पर सबसे बड़ा सवाल ये खड़ा होता है। आखिर इतने भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्यवाही कब होगी क्योंकि एसडीओ सतवीर सिंह पिछले 14 वर्षों से यहीं तैनात हैं। आपको अवगत कराते चलें कि यह जेई चंचल शर्मा वही है जो दो दिन पहले बिजली घर में शराब पार्टी करते हुए कैमरे में कैद हुए था। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जांच चल रही है।

 

Show More

Related Articles

Back to top button