अमेठीउत्तर प्रदेश

कायाकल्प योजना के नाम पर हड़प लिए रुपये

अमेठी। जनपद में भष्ट्राचार की ताजा तस्वीरें सामने आई जहां अमेठी के भेटुआ ब्लॉक के बन्दोईया गाँव में बने इंग्लिश मीडियम मार्डन स्कूल की जहां बन्दोईया में सूबे की सरकार गिरते शिक्षा स्तर और सरकारी विद्यालयों को आधुनिक बनाने के लिए कायाकल्प योजना की शुरुआत की। जिससे विद्यालयों की तस्वीरें बदलने लगी है और शिक्षा में भी कुछ बदलाव की उम्मीद दिखना शुरू ही हो रही थी। लेकिन कुछ विद्यालय अमेठी में ग्राम प्रधानों की भ्रष्टाचार की भेंट चढ रहे हैं।

अमेठी में कायाकल्प योजना के नाम पर पैसा निकाल कर हड़प लिया गया है। और ना ही विद्यालय को कायाकल्प किया गया है। और पैसा निकालकर बन्दर बाँट कर लिया गया है। विद्यालय आज भी अपनी दुर्दशा पर आसु बहा रहा है। और सरकार के सपनों पर पानी फेरने का काम किया गया है। विद्यालयों में ना ही वॉल पेंटिंग बनाई गई है ना ही गेट और बाउंड्री वॉल पेंटिंग हुई। पूरे पैसे को निकालकर बंदरबांट किया गया है, जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने ऑनलाइन की है लेकिन अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है। और हो भी क्यों क्योंकि जो ग्राम प्रधान भ्रष्टाचार में लिप्त है उस पर अधिकारियो की मेहरबानी जो है। अगर नहीं है तो अब तक किसी की नजरे क्यों इस भष्ट्राचार पर नहीं गई।

वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि कायाकल्प योजना के नाम पर इस विद्यालय में करीब 9 लाख का गबन किया गया है, जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पोर्टल पर किया हैं। लेकिन अब तक ना कोई जांच हुई और ना ही कोई कार्रवाई जबकि सरकार भ्रष्टाचारियों पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। लेकिन अमेठी में भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लग रहा है और लगे भी कैसे इन सब के पीछे कहीं ना कहीं से अधिकारियों की लापरवाही देखने को मिल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि इस विद्यालय के नाम पर वॉलटाइल, समरसेबल विद्यालय का गेट के साथ-साथ मिट्टी दिलाने के नाम पर 9 लाख का गबन किया गया है। प्रशासनिक अधिकारी बीडीओ की माने तो शिकायत की जाँच कराई जा रही है जैसा भी होगा कार्यवाई की जाएगी।

Show More

Related Articles

Back to top button