उत्तर प्रदेशवाराणसी

पीएम मोदी ने काशी को दिया दिवाली तोहफा, 614 करोड़ के विकास कार्यों का किया लो​कार्पण

PM Modi gave a gift of gift to Kashi in varanasi

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में वाराणसी में वर्चुअल माध्यम से 614 करोड़ रुपये के विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया। पीएम मोदी ने कहा, ‘बनारस में जो विकास कार्य हो रहे हैं, सरकार ने जो निर्णय लिये हैं, उनका लाभ बनारस के लोगों को मिल रहा है’। ‘यह जो सब कुछ हो रहा है उसके पीछे बाबा विश्वनाथ का ही आशीर्वाद है’। कहा कि महादेव का आशीर्वाद ही है कि जब भी काशी के लिए नए कार्यों की शुरुआत होती है, तो पुराने कई संकल्प पूरे हो चुके होते हैं।

महादेव के आशीर्वाद से काशी कभी थमती नहीं है। मां गंगा की तरह निरंतर आगे बढ़ती रहती है। कोरोना के कठिन काल में भी काशी आगे बढ़ती रही। कोरोना के खिलाफ बनारस ने जिस जीवटता से लड़ाई लड़ी है, इस मुश्किल समय में जो सामाजिक एकजुटता का परिचय दिया है। वो बहुत प्रशंसनीय है। बनारस शहर और देहात के इस विकास योजना में पर्यटन के साथ-साथ संस्कृति और सड़क, बिजली, पानी भी है। हमारा हरदम प्रयास है कि काशी के हर व्यक्ति की भावनाओं के अनुरूप ही विकास का पहिया आगे बढ़े।

काशी बिजली तारों के जाल से हो रहा मुक्त
मां गंगा को लेकर ये प्रयास, प्रतिबद्धता काशी का संकल्प भी है और काशी के लिए नई संभावनाओं का रास्ता भी है। धीऱे-धीरे यहां के घाटों की तस्वीर बदल रही है। गंगा घाटों की स्वच्छता और सुंदरीकरण के साथ-साथ सारनाथ भी नए रंगरूप में निखर रहा है। पीएम बिजली के तारों का जिक्र करते हुए कहा कि काशी की एक बड़ी समस्या यहां लटकते बिजली के तारों के जाल की रही है। आज काशी का बड़ा क्षेत्र बिजली तारों के जाल से भी मुक्त हो रहा है। तारों को अंडरग्राउंड करने का एक और चरण, आज पूरा हो चुका है।

बाबतपुर से शहर को कनेक्ट करने वाली सड़क भी अब बनारस की नई पहचान बनी है। आज एयरपोर्ट पर 2 Passenger Boarding Bridge का लोकार्पण होने के बाद इन सुविधाओं का और विस्तार होगा। छह वर्ष पहले जहां बनारस से हर दिन 12 फ्लाइट्स चलती थीं, आज इससे 4 गुणा फ्लाइट्स चलती हैं। आज गंगा एक्शन प्लान प्रोजेक्ट के तहत काशी में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का काम पूरा हो चुका है। साथ ही साही नाला से अतिरिक्त सीवेज गंगा में गिरने से रोकने के लिए डायवर्जन लाइन का शिलान्यास भी किया गया है।

काशी पूर्वांचल के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं का बना हब
प्रधानमंत्री मोदी बोला कि बनारस में पहले 12 फ्लाइट चलती थी, आज चार गुनी ज्यादा 48 फ्लाइट चलती है। जिससे बनारस आने-जाने वालों की सुविधा बढ़ी है। वाराणसी में शहरों की हालत भी सुधरी है। बीते छह सालों से बनारस में Health Infrastructure पर भी अभूतपूर्व काम हुआ है। आज काशी पूर्वांचल के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं का हब बनता जा रहा है। बनारस और पूर्वांचल के किसानों के लिए तो स्टोरेज से लेकर ट्रांसपोर्ट तक की अनेक सुविधाएं यहां तैयार की गई हैं। International Rice Institute का Centre हो, Milk Processing Plant हो, Perishable Cargo Center का निर्माण हो, ऐसी अनेक सुविधाओं से किसानों को बहुत लाभ हो रहा है। बनारस की कनैक्टिविटी हमेशा से हमारी सरकार की प्राथमिकता रही है। काशीवासियों का और यहां ने वाले हर श्रद्धालु का समय सड़क जाम में न लगे, इसके लिए यहां नए इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गांव में रहने वाले लोगों को, गांव की जमीन, गांव के घर का, कानूनी अधिकार देने के लिए ‘स्वामित्व योजना’ शुरू की गई है। गाँवों में घर मकान को लेकर जो विवाद होते थे, इस योजना से मिले प्रॉपर्टी कार्ड के बाद, उनकी गुंजाइश नहीं रह जाएगी।

Show More

Related Articles

Back to top button