उत्तर प्रदेशवाराणसी

मां गंगा की महाआरती कर लोगों ने लिया संरक्षण व स्वच्छता की शपथ

वाराणसी। चार नवंबर राष्ट्रीय नदी घोषित दिवस और गंगा उत्सव आयोजन के क्रम में बुधवार को दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की महाआरती कर लोगों ने गंगा स्वच्छता की शपथ ली। नमामि गंगे एवं जिला गंगा समिति के तत्वावधान में किए गए आयोजन में राष्ट्रीय ध्वज के साथ नागरिकों ने गंगा के संरक्षण का संकल्प लिया। नमामि गंगे (गंगा विचार मंच) काशी प्रांत के संयोजक राजेश शुक्ला ने सभी को स्वच्छता की शपथ दिलाई। मां गंगा की विराट आरती के पश्चात पदयात्रा कर दशाश्वमेध घाट से दरभंगा घाट और मान मंदिर घाट तक स्वच्छता की गूंज सुनाई पड़ी। वाराणसी वन विभाग के कंजरवेटिव प्रमोद गुप्ता एवं प्रभागीय वनाधिकारी महावीर कौजलगी संग एनडीआरएफ के जवानों ने स्वच्छता की अलख जगाई। गंगा प्रहरी टीम की अगुवाई भारतीय वन्यजीव संस्थान की सुनीता रावत एवं दर्शन निषाद ने की।

People took oath of protection and cleanliness by doing marathi of mother Ganga in varanasi

वाराणसी के प्रभागीय वनाधिकारी महावीर कौजलगी ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से गंगा की अविरलता और निर्मलता की दिशा में ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ साथ युवाओं और छात्रों को जोड़ना चाहते हैं ताकि आने वाले दिनों में अनूठा उदाहरण भी पेश किया जा सके।

संयोजक राजेश शुक्ला ने जागरूकता करते हुए संदेश दिया कि भारत की सांस्कृतिक पहचान जीवंत गंगा की पावनता, महत्व और धारा से हम सभी जुड़े हुए हैं । गंगा किनारे रची – बसी सांस्कृतिक समृद्धि का संरक्षण नितांत जरूरी है। आयोजन में प्रमुख रूप से गंगा विचार मंच महानगर के सहसंयोजक शिवम अग्रहरी, सारिका गुप्ता, शिवदत्त द्विवेदी, वन विभाग वाराणसी के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button