उत्तर प्रदेशप्रतापगढ़

लखनऊ-प्रयागराज हाइवे पर मौत का तांडव, 14 बरातियों की दर्दनाक मौत

प्रतापगढ़। मानिकपुर थाना के देशराज इनारा की घटना सामने आई है जहां लखनऊ-प्रयागराज हाइवे पर मौत का तांडव नज़र आया। तेज़ रफ़्तार अनियंत्रित बोलेरो खड़ी ट्रक में जा घुसी। यह हादसा रात 11.45 बजे की है। इस भीषण हादसे में नबाबगंज इलाके के शेखापुर से लौट रहे 14 बरातियों की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई। मृतकों में आठ पुरुष और छह बच्चे शामिल है। सभी बराती कुंडा कोतवाली के जिर्गापुर के रहने वाले बताए जा रहे है। सूचना पर एसपी अनुराग आर्य मातहतों संग पहुचकर बचाव कार्य मे जुट गए।

Orgy of death on Lucknow-Prayagraj highway, painful death of 14 Baratis in pratapgadh

सड़क पर मौत का तांडव उस समय हुआ जब बारातियों से खचाखच भरी बोलेरो नवाबगंज थाना इलाके के शेखवापुर से लौट रही थी। बोलेरो अभी मानिकपुर थाने के लखनऊ-प्रयागराज हाइवे के देशराज का इनारा पहुची थी कि सामने खड़ी पंचर ट्रक में पीछे से जा घुसी। टक्कर इतनी जबरजस्त थी कि आधी बोलेरो ट्रक में घुस गई थी जिसे पुलिस ने जेसीबी से किसी तरह खीच कर निकलवाया। बोलेरो में बैठे पांच लोगों के शवो को तो आसानी से निकाल लिया गया लेकिन नौ लोगों का शव बोलेरो को काटकर निकाला जा सका, इसमे विभिन्न आयु वर्ग के आठ पुरुष और छह बच्चे शामिल है। मृतकों में बबलू 22, दिनेश कुमार 40, पवन कुमार 10, दयाराम 40, अमन कुमार 7, राम समुझ 40, अंश 9, गौरव कुमार 10, नानभइया 55, सचिन 12, हिमांशु 12, मिथिलेश कुमार 17, अभिमन्यु 28, पारसनाथ 40 ड्राइवर शामिल है, ड्राइवर को छोड़ सभी परिवार के ही बताए जा रहे है।

Orgy of death on Lucknow-Prayagraj highway, painful death of 14 Baratis in pratapgadh

बताया जा रहा है कि कुंडा कोतवाली के जिर्गापुर के रहने वाले सन्तराम यादव के बेटे की बारात में शामिल होंकर लौट रहे थे। तब यह यह हादसा हुआ। हादसे की सूचना मिलते ही एसपी अनुराग आर्य और कई थानों की फोर्स मौके पर पहुच गई और बचाव कार्य मे जुट गई लेकिन किसी को भी बचा पाने में नाकाम रही। पुलिस ने सभी शवो को कुंडा सीएचसी भेजवाया जहा पंचनामा की कार्यवाई की गई और सभी को अंत्यपरीक्षण को भेजा गया। एक साथ चौदह शवो को देख लोगो का कलेजा मुह को अ रहा था। जिस गांव में खुशियों का माहौल था महिलाएं मंगलगान में व्यस्त थी कि सुबह होगी और नई बहू आएगी। लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था गांव में खुशियों का रास्ता रोके खड़ी हो गई मौत और खुशियों से पहले चौदह अपनो की मौत की सूचना ने गांव में कोहराम मचा दिया।

Show More

Related Articles

Back to top button