उत्तर प्रदेशवाराणसी

राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के तहत नहीं हुआ कोई भी विकास कार्य

ads

वाराणसी। जनपद के गांव में जितने भी विकास कार्य होते हैं, सब विकासखंड कार्यालय के देखरेख में ही होता है। इसके बावजूद भी अगर खंड विकास कार्यालय जिस गांव सभा में स्थित है उस गांव में अगर विकास नहीं हुआ है तो उसको क्या माना जाएगा। इसका ताजा उदाहरण हम आपको दे रहे हैं खंड विकास कार्यालय पिण्ड्रा के बाउंड्री से सटे ग्रामसभा नेवादा के नट बस्ती का जहां की स्थिति यह है कि बस्ती में जाने के लिए रास्ता नहीं है, रहने के लिए छत नहीं है।

 No development work done under National Cleanliness Campaign in varanasi

बता दे, राष्ट्रीय स्वच्छता अभियान के तहत बने शौचालय की दुर्दशा यह है कि कहा नहीं जा सकता। आज भी पन्नी के सहारे बने झोपड़ी में लोग रहने को है मजबूर है, जो सरकारी आवास बने भी हैं उसका न तो प्लास्टर हुआ है और न खिड़की लगी है, ना दरवाजा लगे हैं। यहां तक कि उसका फर्श भी नहीं बना है। बारिश हो जाने पर घुटना भर कीचड़ से होकर गुजरना पड़ता है। लोगों को वही गांव के वीरेंद्र, गेना , निशा, प्रमिला, सावित्री ,खिचड़ू, राम आधार, चिरंजीव, राजेन्द्र, महेंद्र, इंद्रावती, सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि साहब हम लोग हैं गरीब, हमारे बस्ती में रास्ता नही है और न ही शौचालय है और जो शौचालय बने भी हैं, वह आधा-अधूरा है। आवास भी बने हैं उसकी खिड़की दरवाजा नहीं है।

Show More

Related Articles

Back to top button