उत्तर प्रदेशवाराणसी

नीति आयोग ने नए विकास कार्यों की समीक्षा कर योजनाओं को दिया मूर्त रूप

ads

वाराणसी। सेवापुरी में नीति आयोग के कार्य के कार्यकारिणी अधिकारी अमिताभ कांत के नेतृत्व में मंगलवार को सेवापुरी प्रखंड के सभागार में एक समीक्षा बैठक हुई। बैठक में स्वास्थ्य, शिक्षा, पशुपालन, मत्स्य पालन, बैंकिंग, कृषि विकास के मामले में माध्यम से टीलाइट के माध्यम से नीति आयोग की टीम में जानकारी प्राप्त की।

NITI Aayog reviews new development works and gives concrete shape to schemes in varanasi

कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने कहा कि शिक्षा स्वास्थ्य में तथा अन्य योजनाओं में बदलाव लाने के लिए लोगों के विचारधारा में बदलाव लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के इच्छा के अनुसार सेवापुरी में जमीन जमीन पर बदलाव लाना नहीं बल्कि लोगों के विचारों में भी बदलाव लाना है। एक बार सेवापुरी विकासखंड मॉडल बन जाए तो बनारस ही नहीं पूरे भारत में विकास खंडों को मॉडल गांव बनाया जाएगा। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि 15 ग्रुप बनाकर विकास कार्य किया जाएगा और यह भी देखा जाए कि कैसे यहां के लोगों में परिवर्तन आएगा 15 जुलाई से 15 नवंबर तक संतृप्ति नगर योजना के तहत कार्य किया जाएगा। 17 जुलाई से 15 सितंबर तक दो माह में कर्मचारियों के तरीकों में बदलाव लाया गया है। सभी गांव सभाओं में निगरानी समिति बनाए जाएंगे इनके लिए सरकार से मानदेय की व्यवस्था की जाएगी। किसानों को चावल से किसानों की आय दोगुनी नहीं होगी इसलिए सब्जी फल उत्पादन के लिए प्रेरित किया जाएगा। स्वयं सहायता समूह जो कार्य कर रहे हैं उन महिलाओं के माध्यम से अस्पतालों में भोजन की व्यवस्था कराई जाएगी तथा उन्हें सरकारी काम से जोड़ा जाएगा बैंकिंग लोन काजोल था। वह बैंक के लोगों ने पूरा कर दिया है आगे की योजना पर कार्य योजना तैयार किया जाएगा इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक चौक से भी लोगों को जोड़ने की व्यवस्था की जाएगी।

NITI Aayog reviews new development works and gives concrete shape to schemes in varanasi

मौके पर नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत, प्रमुख सचिव ग्राम विकास एनएन सिन्हा, भारत सरकार गया प्रसाद, उपनिदेशक शेखर बोनु, विकास सील संयुक्त सचिव संतोष कुमार यादव, अजय तिवारी संयुक्त सचिव, सुधीर गर्ग संयुक्त सचिव शाहनवाज आलम, उपनिदेशक खुश होटल, राज शर्मा, जिला अधिकारी कौशल राज शर्मा मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन आदि मौजूद रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button