उत्तर प्रदेशगाज़ीपुर

सीएम के निर्देश पर पहुचे प्रभारी मंत्री,पीड़ित परिवार से की मुलाकात

गाज़ीपुर। जनपद में एक फौजी परिवार की थाने में बुरी तरह से पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल घटना का संज्ञान लिया था। और जनपद के प्रभारी मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला को तत्काल पीड़ित परिवार से मिलकर घटना की पूरी जानकारी लेने का निर्देश भी दिया था। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आज प्रभारी मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला नगसर क्षेत्र के नूरपुर गांव पहुंचे और पीड़ित परिवार से मिलकर घटना की पूरी जानकारी ली।


परिवार से मिलने के बाद प्रभारी मंत्री ने कहा कि 26 जुलाई को एक अप्रिय घटना हुई थी। आज मैंने पीड़ित परिवार से मुलाकात की है और मामले की पूरी जानकारी ली है। मैं मुख्यमंत्री जी को पूरी घटना से अवगत कराउंगा।फिलहाल आरोपी एसओ नगसर हाल्ट रमेश कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है। और दरोगा कृष्णा यादव को भी हटा दिया गया है। वहीं एसडीएम जमानियां और सीओ जमानियां को मामले की जांच सौंपी गयी है।किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जायेगा। इस दौरान प्रभारी मंत्री को ग्रामीणों के विरोध का भी सामना करना पड़ा। कुछ युवा एसओ को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने की मांग कर रहे थे, जिसपर प्रभारी मंत्री ने कहा कि सभी को अपनी बात कहने का अधिकार है और मुख्यमंत्री इस मामले को लेकर गंभीर हैं।

बता दें नगसर थाने के नूरपुर गांव के एक फौजी ब्राह्मण परिवार के 9 सदस्यों की नगसर थाने में रातभर बुरी तरह से पिटाई की गयी थी। जिसमें पीड़ितों पर पुलिस ने आरोप लगाया था की ये लोग किसी अपराधी को अपने घर में शरण दिये हुए हैं। जबकि पीड़ित परिवार का आरोप है कि आरोपी एसओ और अन्य पुलिसकर्मी बिना किसी वारंट के उनके घर में उस समय घुसे जब उनके घर मे तेरहवीं की तैयारी चल रही थी। और परिवार के 9 सदस्यों को बिना किसी ठोस कारण के पुलिसकर्मी थाने ले गये और थाने में सभी की रातभर बुरी तरह से पिटाई की गयी। पीड़ित परिवार ने इस पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर न्याय की मांग की थी। हालांकि पीड़ित पूर्व फौजी अजय कुमार पांडेय और वर्तमान हवलदार के के पांडेय ने तो यहां तक आरोप लगाया की एसओ ने रातभर उनके परिवार के 9 सदस्यों की बुरी तरह से पिटाई तो की ही साथ उनके जनेऊ भी उतार लिये और उनको राम का नाम भी नहीं लेने दिया गया ।यही वजह है कि ब्राह्मण संगठन भी इस मामले में सोशल मीडिया पर न्याय की मांग करने लगा है। इसी के चलते मंत्री के सामने विरोध में नारेबाजी की गयी।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close