उत्तर प्रदेशदेशवाराणसी

किसान कल्याण मिशन के अंतर्गत किसान मेला संगोष्ठी एवं प्रदर्शनी हुई संपन्न

किसान अन्नदाता भारत के भाग्य विधाता : रविंद्र जायसवाल

वाराणसी। सेवापुरी के परिसर में बुधवार को किसान कल्याण मिशन के अंतर्गत किसान मेला संगोष्ठी एवं प्रदर्शनी आयोजित की गयी। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्टांप एवं निबंधन राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार रविंद्र जयसवाल ने कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन कर किया। जायसवाल ने किसान मेले में लगे विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक खेती से उपजाई गयी सब्जी स्टाल का अवलोकन किया तथा किसानो से बातचीत कर जानकारी प्राप्त की और गन्ना किसानों के लगे स्टाल पर उपस्थित किसानों से होने वाली समस्याओं से रूबरू हुए।

 Kisan Mela seminar and exhibition concluded under Kisan Kalyan Mission in varanasi

उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए जायसवाल ने कहा कि सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की योजनाओं के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि किसानों को दिए जाने वाले कृषि यंत्रों पर सरकार सब्सिडी देती है। किसान मेले के आयोजन का मतलब है। किसानों को लाभ दिलाना तकलीफ तो तब होती है, जब अन्नदाता का बेटा बीए, एमए करने के बाद शहर जाकर नौकरी मांगता है तब सोचना पड़ता है कि क्या चल रहा है। उन्होंने कहा कि आपके बनारस के किसान की बेटी सीए करने के बाद दिल्ली में जाकर चार एकड़ में पाली हाउस बनाकर जलबेरा फूल की खेती करती है। 4 से ₹5 लाख रुपए की आमदनी प्रति मांह करती है। किसानों को अपना टेक्निक बदलना होगा चावल गेहूं हमारे देश में इतना पैदा हो रहा है कि हम चाहे तो 4 से लेकर 5 साल तक बैठ कर खा सकते हैं जिसका प्रमाण आप को करोना काल के दौरान देखने को मिला कि सरकार द्वारा पूरे देश में हर मांह मे दो बार खाद्यान्न वितरित किया गय। कोरोना काल में हमारे देश का एक भी गरीब भूख से नहीं मरा। पाली हाउस में हर सामयिक खेती को किया जा सकता है।

किसानों को लीग से हटकर खेती करनी पड़ेगी जिससे उनके आय में वृद्धि हो और सरकार द्वारा किया जा रहा, प्रयास किसानों की आय दुगनी में सहयोग मिल सके खादी ग्रामोद्योग जहां किसानों को कम ब्याज पर लोन उपलब्ध करा रहा है। लोगों को चाहिए कि खेती के साथ-साथ अपना व्यवसाय भी स्थापित करें जिसके लिए प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही है। विदेशी के जगह स्वदेशी अपनाएं और खुद उत्पादन करें और उन्होंने गीर गाय के पालन को आगे बढ़ाने का भी किसानों का आवाहन किया, किसानों को सब्सिडी पर मिल रही मशीन से तुरंत 2 घंटे में पनीर बनाया जा सकता है। वहीं उन्होंने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को गलत बताते हुए कहा कि पंजाब के राजनीतिक पार्टी के लोगों द्वारा भड़का कर किसानों से आंदोलन कराया जा रहा है ।कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि हमारे देश का एक ऐसा नेता है, जो कहता है कि हमारी सरकार बनेगी तो हम ऐसी मशीन लाएंगे। जिसमें एक तरफ से आलू डाला जाएगा और दूसरी तरफ से सोना निकलेगा, ऐसी सरकार के लोग किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं, जबकि प्रधानमंत्री द्वारा किसान बिल जो लाया गया है। वह किसानों के हित में है। इससे पूजी पतियों और जमाखोरी करने वालों पर लगाम लगेगी मंडियों में जो 2% किसानों से टैक्स लिया जाता था।उसको 1% ने कर दिया और किसानों को अपनी उपज कहीं भी बेचने के लिए स्वतंत्र कर दिया।

 Kisan Mela seminar and exhibition concluded under Kisan Kalyan Mission in varanasi

उन्होंने कहा कि किसान जो अपना दिन रात मेहनत करके उपज पैदा करता है। उसका बाजार मंडी में बैठे अढतिया तय करते हैं और औने पौने दाम पर खरीद कर भंडारण करते हैं और किसानों के उपज का सही लाभ नहीं मिल पाता किसानों को अपनी फसल कहीं भी बेचने के लिए अधिकार दे दिया और बची फसल को रखने के लिए कार्गो सेंटर खोल दिया। जिससे किसान अपनी कच्ची उपज रख कर अच्छे दामों में बेच सकता है। मेले में आए किसानों को आवास के लाभार्थियों को प्रशस्ति पत्र दिया गया और उन्नतशील किसानों को कृषि यंत्र भी वितरित किया गया। उन्होंने उपस्थित किसानों से जीरो बजट प्राकृतिक खेती करने का भी आवाहन किया इस अवसर पर जिला कृषि अधिकारी सुभाष कुमार मौर्य ने किसानों के लिए चलाई गई सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं की जानकारी दिए कार्यक्रम में प्रमुख रूप से जिला पशु चिकित्सा अधिकारी वीवी सिंह, जिला उद्यान अधिकारी संदीप गुप्ता खंड विकास अधिकारी, दिवाकर सिंह दिव्यांग विभाग से विनोद मौर्य फुलझार प्रसाद ललित पटेल, संजय पटेल आदि लोग उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button