उत्तर प्रदेशकानपुर

खांकी पर उठे सवाल : जुएं पर बैठे युवक को मारी गोली, मौत

कानपुर। मामला घाटमपुर थानाक्षेत्र में आने वाले भदरस गाँव का है जहां के रहने वाले पप्पू बाजपेई की बीती रात गोली मारकर हत्या कर दी गयी जिसके बाद पूरे गाँव शोक में डूब गया और पप्पू के घर मातम की काली घटा छा गई। बस सभी की जुबां पर एक ही सवाल था पुलिस ने गोली क्यों चलाई और गोली लगने के बाद पुलिस घायल पुप्पू को क्यो छोड़ कर भागी ?

Khaki came under siege, police opened fire in lice, one dead in kanpur

वैसे अभी तक मिली जानकारी के अनुसार, पप्पू बाजपेई और उसके कुछ ग्रामीण साथी गाँव के बाहर बने बगीचे में जुआं खेल रहे थे जिसके चलते पप्पू पूरी रात घर नही आया और सुबह होते ही पप्पू के घर उसकी हत्या की सूचना जा पहुंची। वहीं सूचना मिलते ही मौकें में पहुंची पुलिस ने पाया कि सिर में गोली से पप्पू की मौत हुई है। वही पुलिस को मौके पर 9mm का खोका भी बरामत हुआ है। जिसका इस्तेमाल सिर्फ पुलिस ही करती है। लेकिन जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घर वालों की तहरीर नही आ जाती तब तक पुलिस गोपनीय जांच करने में जुटी हुई है।

Khaki came under siege, police opened fire in lice, one dead in kanpur

वहीं दूरी तरफ विश्वसनीय सूत्रों की माने तो देर रात पुलिस की मौजूदगी की आहट सुनाई गई थी जिसके कुछ देर बाद गोली चलने की आवाज के बाद शांति सी हो गयी यानी कुल मिलाकर अभी यह संशय बना हुआ है कि पप्पू की मौत किसके हाथों हुई? जिसपर पुलिस विभाग जांच का ताना-बाना बुनने में लगा हुआ है। मृतक के परिजनों के साथ कांग्रेस जन घाटमपुर थाने पहुंचे जहां पर मांग की गई कि सबसे पहले उस पुलिसकर्मी को हटाया जाए जिसके ऊपर आरोप लग रहे हैं और दरोगा की पिस्तौल की बैलेस्टिक जांच कराई जाए।

Show More

Related Articles

Back to top button