उत्तर प्रदेशवाराणसी

काशी की रचना ने बनाया ये खास डिवाइस, मुश्किल समय में करेगा महिलाओं की मदद

ads

Kashi's creation made this special device in varanasi

वाराणसी। देश में बढ़ती महिलाओं के साथ छेड़खानी और बलात्कार जैसी घटनाओं को देखते हुए देश की एक बेटी ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए एक वीमेन पावर हथियार बनाया है। इस हथियार को दिल्ली में रहने वाली रचना राजेंद्र ने वाराणसी के इंनोवेटर श्याम चौरसिया के देख रेख में बनाया है रचना राजेंद्र सेवन ब्लैक बेल्ट हैं और अब तक देश भर में हजारों महिलाओं को आत्मरक्षा के गुण सीखा चुकी हैं।

रचना राजेंद्र ने अपने इस डिवाइस को वीमेन सेफ्टी हैंड ग्रेनेड का नाम दिया है। ये दिखने में बिलकुल हैंड ग्रेनेड जैसा है और छेड़खानी करने वाले शोहेदों मनचलों को सबक सिखने में सक्षम है। फाइवर प्लास्टिक से बने इस विमेंस सेफ्टी ग्रेनेड को वायरलेस डिस्टेंस सेंसर की टेक्नोलॉजी से बनाया गया है। जरुरत पड़ने पर मुशीबत में फशी महिला को बस ये ग्रेनेड निकलना है और पिन को निकाल कर फेक देना है। लड़की के हाथ से ग्रेनेड गिरते ही या फेकते ही लोकेशन के साथ लोकल पुलिस व परिवार के तीन से पांच सदस्यों को कॉल चला जायेगा। इस टेक्नोलॉजी की मदत से बिना मोबाइल फोन के 112, 100, व परिवार के अन्य तीन से पांच सदस्यों को इमरजेंसी में कॉल चला जाता है, यही नहीं अगर परिस्थिति ज्यादा गंभीर है और लड़की की जान को खतरा है तो इस ग्रेनेड को गन बना कर फायर भी किया जा सकता है। ग्रेनेड फायर की आवाज इतनी तेज होती है की समय रहते पुलिस व परिवार के सदस्यों से पहले पब्लिक का ध्यान भी उस लोकेशन घाटना स्थान पर केंद्रित हो ताकी समय रहते किसी लड़की की जान व आबरू बचाई जा सके।

Kashi's creation made this special device in varanasi

रचना ने बताया हमारा डिवाइज पूरी तरह से सवदेशी है इसमें किसी भी तरह के चाइनीज पार्ट्स यूज नहीं किये गये है रचना अपने विमेंस सेफ्टी डिवाइज को मेक इन इंडिया के तहेत बाजार में लाना चाहतीं है इसके लिए उन्हों ने पीएमओ इंडिया को चिठ्ठी भी लिखी है। इसे बनाने में चार महीने का समय लगा है और 650 रूपये का खर्च आया है।

Show More

Related Articles

Back to top button