fbpx
Monday, July 6
BREAKING NEWS: दिल्ली: अमेरिकी फाइटर जेट ने दक्षिण चीन सागर को घेरा, चीनी सेना के उड़े होश BREAKING NEWS: कानपुर: कुख्यात अपराधी विकास दुबे की मदद करने वाले यूपी के चार और पुलिसकर्मी सस्पेंड BREAKING NEWS: कानपुर: विकास दुबे पर पहले 50 हजार फिर एक लाख, अब पूरे ढाई लाख का इनाम BREAKING NEWS: भदोही: बैंक क्लर्क ने तकिए से मुंह दबाकर पत्नी को उतारा मौत के घाट BREAKING NEWS: वाराणसी: युवक को चाकू गोदकर फरार हुआ हत्यारा, चाचा को भी मारने का किया प्रयास  

IRCTC ने अपने 500 सुपरवाइजरों को निकाला, कहा- मौजूदा हालात में इनकी जरूरत नहीं

ads-image

IRCTC fired 500 of its supervisors in India

दिल्ली। भारतीय रेलवे की कैटरिंग और पर्यटन का काम देखने वाली आईआरसीटीसी ने अपने 500 सुपरवाइजरों को सेवा से मुक्त करने का निर्णय लिया है। ऐसे में IRCTC का कहना है कि मौजूदा हालात में इतने कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं है, इस लिए हमने ये फैसला लिया है। बता दें​ कि ये सभी कर्मचारी संविदा पर नियुक्त किये गए थे।

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम ‘IRCTC’ ने 2018 में लगभग 560 सुपरवाइजरों को रेलगाड़ियों में ठेकेदारों के माध्यम से परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता की जांच के लिए नियुक्त किया था। इन सुपरवाइजरों का काम ट्रेनों के खानपान वाले कोच के संचालन की व्यवस्थाओं पर निगरानी करना था। इसके साथ ही यात्रियों की समस्याओं और शिकयतों पर ध्यान देना था।

IRCTC ने 25 जून को एक पत्र के जरिए अपने सभी आंचलिक कार्यालयों को इस बारे में सूचित किया कि वर्तमान परिस्थितियों में इन कर्मचारियों की कोई जरूरत नहीं है। ऐसे में इन्हें एक महीने का नोटिस देकर इनका कांट्रैक्ट समाप्त कर दिए जाएंगे। आईआरसीटीसी के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने सोमवार को पीटीआई को बताया, ‘हम मामले पर पुनर्विचार कर रहे हैं। हम विचार कर रहे हैं कि क्या इस निर्णय पर पुनर्विचार हो सकता है। इस संबंध में कुछ कदम उठाए जाएंगे।’ इस बीच इन निलंबित कर्मचारियों ने रेल मंत्री पीयूष गोयल से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है और इस संबंध में कर्मचारियों ने सोशल मीडिया के जरिए उन तक अपनी

Comments are closed.