उत्तर प्रदेशगाज़ीपुर

अस्पताल में सर्जन की कमी का दंश झेल रहे हैं घायल

 

गाजीपुर। मरदह थाना क्षेत्र में लगातार गोली चलने का सिलसिला जारी है। एक माह के भीतर थाना क्षेत्र में तीसरी बार गोली चलने से अब पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगना स्वाभाविक है। पहले बोगना गांव में अनिल सिंह की दिनदहाड़े हत्या के बाद अभी लहुरापुर गांव के दलित ग्राम प्रधान पति संतोष कुमार की गोली मारकर हुई हत्या का खुलासा हुआ ही नहीं था कि शनिवार की आज शाम कबीरपुर गांव में हौसला बुलंद बाइक सवार नकाबपोश बदमाशो ने पुरानी रंजिश में सन्नी गौतम (28) के दरवाज़े पर चढ़कर गोली मार दी।

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सन्नी को दो गोली लगी है। फिलहाल परिजन सनी को लेकर जिला अस्पताल के लिए गए है। जहाँ उसकी स्थिति नाजुक बताई जा रही है। क्षेत्र में चर्चा है कि जब से मरदह थाने की कमान इंस्पेक्टर कमलेश पाल ने संभाला है। तब से कानून व्यवस्था अनियंत्रित हो गई है। पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओम प्रकाश सिंह ने बताया ने बताया कि हमलावरों ने सन्नी को एक गोली हाथ में और एक गोली कमर के पास मारी है।पुरानी रंजिश और गोली मारने का कारणों का पता लगाया जा रहा है।जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा। साथ ही उन्होंने स्वीकार किया कि जिला अस्पताल में सर्जन नहीं होने की वजह से जिस घायल मरीज का इलाज जिला अस्पताल में हो सकता था उसे वाराणसी रेफर किया जा रहा है।

Show More

Related Articles

Back to top button