उत्तर प्रदेशप्रतापगढ़

आलू प्याज के दाम बढने से लोगों की समस्याएं बढ़ी

प्रतापगढ़। जिले में लगन शुरू होने से पहले सब्जी मंडी में आलू और प्याज के दाम आसमान छूने लगे हैं। जिसकी वजह से आलू और प्याज खाने वाले लोगों को इस महंगी में आलू और प्याज ने आंसू निकाल दिए हैं। सब्जी मंडी में सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि प्याज की पैदावार में कोई कमी नहीं है। लेकिन बिचौलिये प्याज की खेत से सीधे मंडी तक नहीं आने दे रहे हैं। आलू और प्याज को बिचौलियों ने स्टॉक कर लिया है जिसकी वजह से आलू और प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं। जहां ग्राहक एक किलो प्याज खरीदता था। अब आधा किलो से काम चला रहा है। आलू और प्याज के दाम बढ़ने की वजह से प्याज की खरीद में कमी आयी है, लेकिन इस बार बिचौलियों की वजह से आलू और प्याज के दाम बढ़ गए हैं।

पहली बार ऐसा हुआ है कि जब लग्न शुरू होने से पहले ही बढ़े आलू और प्याज के दाम इस साल लगन शुरू होने मे कुछ दिन है। ऐसा पहली बार आलू और प्याज के दामों में इतना उछाल देखा गया है। वेज या नॉन वेज दोनों ही तरह के खाने की थालियों में प्याज नहीं है। इसी तरह सब्जियों में स्वाद बढ़ाने के लिए आलू‌ और प्याज का सब्जी बनाने का प्रयोग बड़ी मात्रा में होता है। लेकिन इस बार आलू और प्याज के दामों में जो उछाल आया है। उससे आम गृहणी रसोई में प्याज से दूरी बना ली है। लेकिन आलू और प्याज फुटकर रेट में 60-70 वही आलू के दाम 40-45 रुपये प्रति किलो के भाव मे बिक रही है।’बाहर से नहीं आ रही प्याज प्रतापगढ़ सब्जी मंडी में प्याज के बढ़ते दाम के लिए फुटकर दुकानदारों आशीष केशरवानी का कहना है कि अभी बाहर से प्याज नहीं आ रही है। लेकिन लगन मे प्याज के दाम कभी नहीं बढ़ते थे। यह पहली बार है जब प्याज 60 रुपये किलो आलू 40-45 रूमये तक बिक रही है। वही मंडी में मौजूद सब्जी खरीदार अनिल इसे मुनाफाखोरी से जोड़कर देख रहे हैं। स्थानीय स्तर पर बड़े व्यापारी आलू और प्याज का स्टॉक किए हुए हैं। जिसका खामियाजा आम नागरिक को उठाना पड़ रहा है। जो लोग दो से तीन किलो आलू और प्याज खरीदता थे अब वह मात्र आधा किलो प्याज ही ले रहे हैं। वहीं इस मुनाफा खोरी में सरकार की भी मिली भगत बताई जा रही है। आलू और प्याज ने रसोई से बनाई दूरीसब्जी मंडी में सब्जी खरीदने आये रूची केशरवानी का कहना है कि प्याज और सब्जी लेने आये हैं। प्याज की क्वालिटी तो खत्म हो ही गई वहीं रेट भी आसमान छू रहे हैं। बड़े-बड़े लोग प्याज का स्टॉक कर लेते हैं और कहते हैं ऊपर से और रेट बढ़ा लेते हैं।

उन्होंनें ने बताया की सरकार जमाखूरी करने वाले लोगो पर लगातार कार्यवाही करने में जुटी हुई है। और आने वाले संमय मे कमी देखने को मिलेगी। और अगर हम लॉकडाउन के अंदर हर सब्जी बढ़िया से बढ़िया 10 से 15 रुपये मिल रही थी। लेकिन अब सभी सब्जियों पर दाम बढ़ा दिए गए हैं। कोई ऐसी सब्जी नहीं है जिसका भाव 30 रुपए किलो से नीचे हो.60-70 रुपए किलो तक बिक रही प्याजसब्जी विक्रेता अमन सैनी का कहना है कि बढ़िया वाली प्याज 60 से 70 रुपये किलो बिक रही है। आलू लाल वाली 45 रुपये प्रति किलो बिक रही है। और सफेद वाली आलू 40 रुपये प्रति किलो तक बिक रही है। उनका कहना था कि वो लोग भी क्या करें , महंगा लाना पड़ता है तो महंगा बेचना पड़ता है।

Show More

Related Articles

Back to top button