उत्तर प्रदेशचंदौली

जीआरपी व आरपीएफ को मिली बड़ी सफलता, चेकिंग के दौरान एक करोड़ का सोना बरामद

चंदौली। डीडीयू जीआरपी व आरपीएफ को मंगलवार की देर रात एक बड़ी सफलता हाथ लगी जब चेकिंग के दौरान दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया, जिनके पास से करीब 2 किलो सोने और चांदी के जेवरात बरामद हुए। गिरफ्तार दोनों व्यक्ति पश्चिम बंगाल के हिजली से जेवरात लेकर नई दिल्ली जा रहे थे। बताते चलें कि जीआरपी आरके सिंह व आरपीएफ संजीव कुमार अपने हमराहीयो के साथ डीडीयू स्टेशन पर मंगलवार की देर रात चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान प्लेटफार्म नंबर 7 पर दो व्यक्ति संदिग्ध स्थिति में बैठे हुए दिखे। पुलिस ने जब इनकी तलाशी ली तो उनके पास से काले रंग के झोले के अंदर एक लोहे का बैग मिला। जिसमें सोने और चांदी के जेवरात रखे हुए थे। जिसका वजन सोने के 1 किलो 965 ग्राम के और चांदी के 177 ग्राम था।

जीआरपी के अनुसार पकड़े लोग ट्रेन के माध्यम से चोरी-छिपे सोने और चांदी की तस्करी करते हैं। ये लोग टैक्स चोरी के लिए बिना कागज के सोने और चांदी के जेवरातों को निश्चित स्थान पर उसकी सप्लाई देते थे। पकड़े गए अभियुक्त में एक पुलक पाल नाम व्यक्ति है जो कि हिजली पक्षिम बंगाल का ही रहने वाला है। वह दिल्ली में रहकर सोने चांदी का काम करता है। दूसरे अभियुक्त का नाम तिलक पाल बताया जा रहा है। दोनो रिस्ते में भाई है। पुलिस के अनुसार इससे पहले भी यह लोग कई बार बिना कागज के सोने और चांदी के जेवरात लेकर दिल्ली जा चुके हैं। कुल मिलाकर या मामला बिना जरूरी कागज के सोने की तस्करी कर टैक्स चोरी का बताया जा रहा है। उधर जीआरपी की सूचना पर पहुंची आईबी, इनकम टैक्स, सेल टैक्स और डीआरआई की टीम अभियुक्तों से पूछताछ कर रही हैं। इस संबंध में जीआरपी प्रभारी निरीक्षक आर.के सिंह ने बताया कि चेकिंग के दौरान बीती देर रात पुलक पाल, तिलक पाल निवासी मादपुर सागमंडल थाना खड़गपुर जिला पश्चिमी मेदीनीपुर पश्चिम बंगाल दोनों अभियुक्तों के पास से 1 किलो 965 ग्राम सोना व 177 ग्राम चांदी के जेवर बरामद हुए हैं। दोनों के विरुद्ध मुकदमा कायम कर जेल भेजा जा रहा है। इस चेकिंग अभियान में आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार,जीआरपी के वरिष्ठ उपनिरीक्षक डी.पी यादव,रविंद्र कुमार यादव,विजय गौड़,रजनीश सिंह शिवगोविंद,अमरजीत यादव,शिव कुमार आरपीएफ के अच्छेलाल यादव आरपीएफ क्राइम ब्रांच के पवन कुमार व दुर्गेश आनंद आदि लोग शामिल रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button