उत्तर प्रदेशवाराणसी

चार दिवसीय स्वर्णमयी अन्नपूर्णा दर्शन : इस बार भक्तों को डाक से मिलेगा खजाना

वाराणसी। प्रत्येक वर्ष धनतेरस से शुरू होने वाली स्वर्णमयी अन्नपूर्णा का दर्शन इस वर्ष 12 नवंबर (धनतेरस पर्व) से शुरू होगा जो 15 नवंबर अन्नकूट पर्व तक चलेगा। दर्शन-पूजन और आयोजन के संदर्भ में रविवार को काशी अन्नपूर्णा मठ मंदिर के सभागार में एक पत्रकार वार्ता आयोजित की गई। जिसमें महंत रामेश्वर पूरी ने बताया कि इस वर्ष पूरा विश्व कोरोना महामारी लड़ रहा है। बाबा विश्वनाथ और मां भगवती के आशीर्वाद व्यवस्थाएं धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है। हालांकि खतरा अभी टला नहीं है। इस बार भक्तों को देखते हुये जिनको खजाना या प्रसाद नही मिल पायेगा उनको डाक के माध्यम से मिल सकेगा ।और बताया कि धनतेरस दिन गुरुवार से शुरू हो रहे स्वर्णमयी अन्नपूर्णा के दर्शन के दौरान कोविड-19 के बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करवाते हुए भक्तों को दरबार में प्रवेश दिया जाएगा। भक्तों को बांसफाटक कोतवालपुरा गेट न. ढूंढीराज गणेश होते हुए मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा।

Four-day Golden Annapurna Darshan: This time devotees will get treasure by post

अस्थायी सीढ़ियों से भक्त मन्दिर के प्रथम तल पर स्थित माता के परिसर में पहुंचेंगे। गेट पर ही माता का खजाना और लावा वितरण भक्तों में किया जाएगा।भक्त पीछे के रास्ते से राम मंदिर परिसर होते कालिका गली से निकास दिया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से मंदिर में जगह-जगह वालेंटियर तैनात किए जाएंगे। थर्मल स्कैनिंग और हैंड सेनेटाइजेशन के बाद भक्तों को माता के दरबार में प्रवेश दिया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पांच-पांच भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा।

Four-day Golden Annapurna Darshan: This time devotees will get treasure by post in varanasi

वहीं, 12 नवंबर धनतेरस को भोर में 4.35 से 5:35 तक महाआरती के बाद आम  श्राद्धलुओ के लिए सुबह 6:00 बजे से माँ के कपाट खोल दिए जायेंगे। सुरक्षा की दृष्टी से मन्दिर परिसर में दो दर्जन सीसी टीवी कैमरे लगाए गए हैं  और मेडिकल की व्यवस्था की भी रहेगी। स्वर्णमयी माँ अन्नपूर्णा का छोटी दीपावली से अन्नकूट पर्व तक के दर्शन भोर में चार बजे से रात्रि 11 बजे तक होगा। वीआईपी समय शाम पांच से सात रहेगा। वृद्ध और दिव्यांगों के लिए दर्शन की सुगम व्यवस्था रहेगी। वार्ता के दौरान उपमहंत शंकर पूरी,डॉ रामनरायण द्विवेदी व  प्रबंधक काशी मिश्रा मौजूद रहे।

Show More

Related Articles

Back to top button