उत्तर प्रदेशवाराणसी

महिला प्रोफेसर ने बीएचयू में मिला आवास एनजीओ को किराए पर दिया, प्रमोशन पर रोक

वाराणसी। बीएचयू कार्यकारिणी परिषद की बैठक दूसरे दिन सोमवार को सीनियर प्रोफेसर को लेकर शुरू हुई। इस दौरान कमेटी के सभी सदस्यों में यह सहमति बन रही है कि यूजीसी के नियमों के मुताबिक विश्वविद्यालय के दस फीसदी प्रोफेसर को प्रमोट किया जा सकता है। लेकिन, बैठक में इस मुद्दे को लेकर एक गतिरोध यह है कि प्रोफेसर को यदि पदोन्नति दे दी गई तो उनका वेतनमान और पद डीन व विभागाध्यक्ष से ज्यादा हो जाएगा। इससे उनका बचा हुआ कार्यकाल खतरे में आ जाएगा।

Female professor rents housing to NGO found in BHU, ban on promotion in varanasi

परिषद की बैठक में इस बात पर सहमति बन सकती है कि वरिष्ठ प्रोफेसर ही प्रमुख पद पर हों, जिससे विभाग में किसी प्रकार की असमानता न रह जाए। अब यह सुनिश्चित होने के बाद ही सोमवार को लगभग 80 प्रोफेसरों के प्रमोशन के लिफाफे खुलेंगे। वहीं कृषि विज्ञान संस्थान व बरकछा परिसर की एक महिला प्रोफेसर के प्रमोशन के लिफाफे को रविवार को रोका गया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार, उन्होंने बीएचयू द्वारा दिये गए आवास को किसी एनजीओ को किराए पर दिया था। इसकी जांच के लिए कमेटी गठित कर दी गई है, जिसके रिपोर्ट के बाद ही निर्णय लिया जाएगा।

Show More

Related Articles

Back to top button