उत्तर प्रदेशबाराबंकी

ईद-अल-अज़हा पर सामाजिक दूरी के साथ केवल पांच लोगों ने पढ़ी नमाज़

बाराबंकी। मामला जनपद के तहसील फतेहपुर का है जहां ईद अल-अज़हा त्योहार पर नमाज़ पढ़ी गई। कोरोना महामारी के लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए सावधानी व स्वास्थ्य की दृस्टि से सोशल डिस्टेंस के साथ केवल पांच लोगों ने ईदगाह पर नमाज़ अदा की। इस मौके पर धर्मगुरुओं ने घर पर ही लोगो को नमाज़ अदा करने और सामाजिक दूरी के साथ नमाज पढ़ने की अपील की। साथ ही उन्होंने खुशी और शांति के साथ बकरा ईद मनाने की भी बात कही। इस अवसर पर पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में नमाज़ पढ़ी गई।

 Eid al-Azha prayers with social distance, only five people prayed in barabanki

बता दे, ईद का त्योहार देश में बड़े ही धूम-धाम से मनाया जा रहा है। इस्लाम धर्म के दो सबसे बड़े त्योहार ईद-उल-फित्र और ईद-उल-अजहा हैं। ईद-उल-फित्र को मीठी ईद कहते हैं, यह ईद रमजान के महीने भर के रोज़े रखने के बाद मनाई जाती है, जबकि ईद-उल-अजहा बकरीद को कहते हैं, जिस पर कुर्बानी की जाती है। ईद-उल-फित्र की तरह ही बकरीद का त्योहार भी तीन दिनों तक बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है और तीन दिन तक कुर्बानी का सिलसिला चलता है।

 Eid al-Azha prayers with social distance, only five people prayed in barabanki

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
Close