https://unal.edu.co/video-ferbar-1.html
https://unal.edu.co/video-ferbar-2.html
https://unal.edu.co/video-juvekiev-1.html
https://unal.edu.co/video-juvekiev-2.html
http://www.pediatrasandalucia.org/video-ferbar-3.html
http://www.pediatrasandalucia.org/video-ferbar-4.html
http://www.pediatrasandalucia.org/video-juvekiev-3.html
http://www.pediatrasandalucia.org/video-juvekiev-4.html
https://www.seqc.es/video-ferbar-5.html
https://www.seqc.es/video-ferbar-6.html
https://www.barc.net/video-juvekiev-5.html
https://www.barc.net/video-juvekiev-6.htmlसीएम योगी का निर्देश : सीयूजी नम्बर की हर कॉल खुद रिसीव करें डीएम तथा एसपी - Today's India News
उत्तर प्रदेशलखनऊ

सीएम योगी का निर्देश : सीयूजी नम्बर की हर कॉल खुद रिसीव करें डीएम तथा एसपी

CM Yogi's instructions: DM and SP receive every call of CUG number itself

  • सीयूजी नम्बर की हर कॉल खुद रिसीव करें डीएम,पुलिस कप्तान: मुख्यमंत्री
  • जन समस्याओं के निराकरण में हीलाहवाली पड़ेगी भारी
  • मुख्यमंत्री कार्यालय से औचक फोन कर जानी जाएगी हकीकत

लखनऊ। जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को अपने सरकारी मोबाइल नम्बर पर आने वाली हर कॉल खुद रिसीव करनी होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी डीएम, एसपी और एसएसपी को निर्देश दिए हैं कि जन समस्याओं को पूरी गंभीरता से लिया जाए। कार्यालय से कोई भी फरियादी निराश होकर न लौटे। डीएम और पुलिस कप्तान अपने सीयूजी नम्बर पर आने वाली हर फोन कॉल का जवाब जरूर दें। यह आदेश तत्काल प्रभाव से अमल में लाना होगा। अगले एक सप्ताह में मुख्यमंत्री कार्यालय से औचक फोन कर अधिकारियों की कार्यशैली की हकीकत की पड़ताल की जाएगी। सीएम योगी ने गैर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के लिए उच्चाधिकारियों को भी निर्देशित किया है।

जन समस्याओं के त्वरित और प्रभावी निदान के संबंध में जारी मुख्यमंत्री के ताजा आदेश में कहा गया है कि जिले में तैनात अधिकारी अपने कैम्प ऑफिस की अपेक्षा कार्यालय में अधिक से अधिक समय दें। कोई भी व्यक्ति जो अपनी समस्या लेकर आता है, उससे मर्यादित व्यवहार ही किया जाए। उनकी समस्या को सुनें और समाधान के लिए उचित कदम उठाएं। सीएम योगी ने कहा है कि सरकार जनता के लिए है, ऐसे में जनता की सुविधा, उनकी समस्याओं का समाधान सरकार की प्राथमिकता में है। जीरो टॉलरेंस की नीति के साथ अधिकारीगण अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। मुख्यमंत्री कार्यालय से डीएम, एसपी और एसएसपी की कार्यशैली की सतत निगरानी की जाएगी।

Show More

Related Articles

Back to top button