उत्तर प्रदेशलखनऊ

सीएम योगी आदित्यनाथ : राष्ट्रीय दल होने के बावजूद कांग्रेस फ़ायदे के लिए कश्मीर के विकास में बन रही बाधक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जम्मू-कश्मीर में गुपकार समझौते को लेकर कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है। सीएम योगी ने कहा कि कांग्रेस इस बात के लिए ज़िम्मेदार है जिसने एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार नहीं होने दिया। जम्मू कश्मीर में धारा 370 छल से लागू करने का काम कांग्रेस ने किया। जम्मू कश्मीर के मुद्दे को लेकर कांग्रेस का दोहरा रवैया राष्ट्रीय एकता और अखण्डता के लिए खिलवाड़ है। कांग्रेस ने हमेशा राष्ट्रीय अस्मिता के साथ खिलवाड़ कर ऐसे लोगों को प्रोत्साहित करने का काम किया जो अलगाववाद और अराजकता को बढ़ावा देते हैं। पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार करने का काम किया। 370 जम्मू कश्मीर के विकास में बाधक थी। जम्मू कश्मीर के कुछ नेताओं ने गुप्कार कन्वेंशन करने वाले क्षेत्रीय दलों के अलावा कांग्रेस ने नेता शामिल हैं। पीएम चिदंबरम और गुलाम नबी आजाद जम्मू कश्मीर में धारा 370 की बहाली की बात करते हैं।

CM Yogi Adityanath: Despite being a national party, Congress is becoming an obstacle in the development of Kashmir for the benefit in lucknow

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जम्मू-कश्मीर को मिलने वाले पैसे को वहां की सरकारें हड़प जाती थीं लेकिन पहली बार विकास की प्रक्रिया को आगे बढाने का काम हो रहा है। स्थानीय स्तर पर लोग एकजुट न हो सकें, इसलिए गुप्कार किया गया। कश्मीर के नेताओं के ख़तरनाक बयान सामने आए हैं। इसमें कांग्रेस का जुड़ना बेहद ख़तरनाक संकेत है। इस वक्त हमारे जवान पूरी मज़बूती से सीमा पर लड़ाई लड़ रहे हैं लेकिन इसी वक्त कांग्रेस का रूख़ जो है, उसपर उन्हें अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। ये लोग दिल्ली में अलग बात करते हैं और जम्मू कश्मीर में अलग काम करते हैं। कांग्रेस को गुप्कार पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। ये समझौता कांग्रेस को कटघड़े में खड़ा करती है।

आगे सीएम ने कहा कि ये राष्ट्र की संप्रभुता को नुकसान पहुंचाने वाला समझौता है। विकास के काम में कांग्रेस क्यों बाधक बनना चाहती है? हम कांग्रेस नेतृत्व से पूछना चाहते हैं कि कांग्रेस क्यों समर्थन कर रही है। चीन और पाकिस्तान को 370 की बहाली के लिए आमंत्रित करने को लेकर कांग्रेस को अपना रूख़ साफ़ करना चाहिए। कांग्रेस ने देश में सबसे ज़्यादा वक्त तक राज किया लेकिन आज अपने फ़ायदे के लिए वो दुस्साहसिक प्रयास कर रही है। गुप्कार समझौता भारत की संप्रभुता को तोड़ने का प्रयास करने वाला कदम है। कश्मीर को आतंकवाद में फिर से झोंकने की कोशिश की जा रही है, इसके लिए कांग्रेस को माफ़ी मांगनी चाहिए। राष्ट्रीय दल होने के बावजूद कांग्रेस स्थानीय फ़ायदे के लिए कश्मीर के विकास में बाधक बनने का काम कर रही है। कांग्रेस को जम्मू कश्मीर के लोगों को विकास से दूर करने का कोई अधिकार नहीं है। कांग्रेस का हाथ अलगाववादियों के साथ है।

Show More

Related Articles

Back to top button