उत्तर प्रदेशवाराणसी

मुख्यमंत्री योगी शहर में और अपराधियों का तांडव जारी, घटना सीसीटीवी में कैद

शाराब के नशे में हौसला बुलंद दबंगों ने रेस्टोरेंट में तोड़फोड़ करते हुए कर्मचारी को पीटा

 Chief minister Yogi continues to have more criminals in the city in varanasi

वाराणसी। घटना बीती रात की हैं, जब तेलियाबाग स्थित एक निजी रेस्टोरेंट में तकरीबन रात नौ बजे शराब के नशे में फॉर्च्यूनर गाड़ी से चार दबंग लोग आए और खाना खाने की जिद करने लगे। रेस्टोरेंट के स्टॉफ के द्वारा बताया गया प्रशासन की तरफ से निर्देश है कि नौ बजे रात में रेस्टोरेंट बंद कर दिया जाता है तो शराब के नशे में धुत उन लोगों ने गाली गलौज शुरु कर दिया। रेस्टोरेंट के कर्मचारियों ने खाना नहीं मिलने की बात कहनी शुरू की तो वे लोग मारपीट पर आमादा हो गए। किसी तरह उन्हें रेस्टोरेंट्स से जब बाहर किया गया तो उन लोगों ने अपने कुछ साथियों को फोन करके बुला लिया।

पुलिस की आहट पर धमकी देकर भाग निकले बदमाश
तकरीबन 9:30 बजे मोटरसाइकिल सवार कुछ लोग अंदर आए और पूरे कर्मचारियों को पीटना शुरू कर दिया। मार पीट के बीच अफरा तफरी का माहौल हो गया। रेस्टोरेंट में कुछ ग्राहक परिवार के साथ खाना खा रहे थे वे लोग भी भागने लगे। इस पर भी उन लोगों का मन नहीं भरा तो उन्होंने अपने साथियों को फोन करके बुला लिया। हद तो तब हो गई जब 15 से 20 की संख्या में अराजक तत्वों के साथ पूरे रेस्टोरेंट में न सिर्फ तोड़फोड़ की गई बल्कि कुर्सी और शीशे के दरवाजे भी तोड़ दिये गए। यह सारी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। जब पानी सर से उपर जाने लगा तो इस घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना के तुरंत बाद फैंटम दस्ता रेस्टोरेंट के गेट पर आ गया जिन्हें देखकर तोड़फोड़ कर रहे हौसला बुलंद अपराधी कल फिर आएंगे की धमकी देकर भागने लगे।
 Chief minister Yogi continues to have more criminals in the city in varanasiघटना सीसीटीवी में कैद होने के बावजूद अपरा​धी पुलिस की पकड़ से दूर
यह सारा कुछ तब घट रहा था जब महज पांच किलोमीटर की दूरी पर विश्वनाथ मंदिर में सूबे के मुख्यमंत्री योगी जिनके नाम से अपराधियों की पतलून गीली हो जाया करती है, मौजूद थे। गौरतलब है कि पिछले आठ महीने से व्यापारियों की कमर कोरोना वायरस की वजह से टूट गयी है, लेकिन अनलॉक की प्रक्रिया के बाद वह काम अब अपराधी करने लगे हैं। आखिर अपराधियों के हौसले इतने बुलंद क्यों हैं? यह सोचने की बात है। साथ ही गौर करने की बात यह भी है कि यह सारी घटना सीसीटीवी में कैद है बावजूद इसके अभी तक ना तो अपराधी पकड़ में आए और ना ही इस तरह की घटना दोबारा ना हो इसका कोई इंतजाम किया गया। शायद इसी तरह की लापरवाही से अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button