अमेठीउत्तर प्रदेश

मृतक प्रधान पति के परिजनों से मिला बीएसपी प्रतिनिधि मंडल, योगी सरकार पर साधा निशाना

 

अमेठी। जनपद में दो दिन पहले 29 तारीख को मुंशीगंज थाना क्षेत्र के बंदोंइया में दलित ग्राम प्रधान पति की जलाकर निर्मम हत्या कर दी गई। जहां बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देश पर आज 6 सदस्यीय बीएसपी प्रतिनिधिमंडल मृतक के घर पहुंचा और परिजनों से मुलाकात किया। प्रतिनिध मंडल में गया चरण पूर्व मंत्री, दिलीप कुमार विमल दिनेश चंद्र एमएलसी, मुख्य सेक्टर प्रभारी अयोध्या सर्वेन्द्र अम्बेक्टर अयोध्या प्रभारी।डॉ जितेंद्र कुमार, मुख्य सेक्टर प्रभारी के साथ दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

वहीं प्रतिनिधि मंडल में आए पूर्व मंत्री गयाचरण ने मीडिया से बात करते प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था पर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की पहली बात तो यह है कि अमेठी जनपद के बंदोईया गांव की निर्वाचित प्रधान श्रीमती छोटका है जो की कोरी समाज व अनुसूचित जाति से हैं। और निर्वाचित ग्राम प्रधान हैं। जानकारी के अनुसार 29 अक्टूबर को शाम को इनके पति को बंधक बनाकर अपहरण कर पेट्रोल डाल कर उनको आग लगा दी गई थी, जिसमें ईलाज को ले जाते समय उनकी मौत हो गई थी। इस सूचना को प्राप्त होने के बाद बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष बहन मायावती जो की उत्तर प्रदेश की 4 बार मुख्यमंत्री रह चुकी है। उन्होंने निर्देश दिया कि अमेठी दलित परिवार के घर जाना चाहिए। और पूरे मामले की जानकारी लेना चाहिए। और उन्हें सांत्वना देना चाहिए। तत्थ्यो की जानकारी लेना चाहिए।

इसी क्रम में मै एमएलसी दिनेश चंद्रा व बसपा के पदाधिकारीयो तथा अगल-बगल के मंडल के सेक्टर इंचार्ज व बहुजन समाज पार्टी के अन्य जिम्मेदार पदाधिकारीयो के साथ मैं यहां आया हूँ। और मैं परिवार से मिला और यह छोटी घटना नहीं है। यह बहुत बड़ी घटना है। इन्होंने एक लिखित ज्ञापन दिया है, जिसे मैं शासन तक पहुचा दूगा। यह बहुत बड़ी घटना है इसकी निंदा जितनी भी की जाए उतनी ही कम है। एक जीने के अधिकार को ग्राम पंचायत के पैसे के बंदरबांट को लेकर के यह कार्य किया गया है। एक ही खानदान के लोग तो तरह की भूमिका निभाकर के एक तरफ प्रधान की मदद करने का काम और दूसरी तरफ प्रधान की जांच कराकर उनकी हत्या करवाई गई है। इसलिए मैं प्रशासन से कहता हूं कि इनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए और अपराधियों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की जाए और पीड़ित परिवार पर किसी भी प्रकार का दबाव न डाला जाय और पीड़ित परिवार को दबाने की कोशिश को रोकने के लिए मौजूदा प्रशासन पीड़ित परिवार की सुरक्षा मुहैया करें हर प्रकार से बहुजन समाज पार्टी पीड़ित परिवार के साथ है। पूरे प्रदेश के जो आर्थिक सामाजिक और पिछड़े लोग हैं सरकार एक नशे में है जो आरएसएस ने इंतजाम किया है। आरएसएस के नशे में चुनावी मोड़ पर इस प्रदेश की सरकार है। इस प्रदेश की सरकार जितने भी गुंडा माफिया और अपराधी किस्म के लोग हैं। उनको संरक्षण दे रही है। और प्रदेश के तमाम लोगों की हत्याएं हो रही हैं। और लोगों की जान माल की कोई जिम्मेदारी नहीं ले रहा है। अनुसूचित जनजाति के व गरीब और कमजोर लोग सुरक्षित नहीं है। इसलिए ऐसी सरकार को तुरंत इस्तीफा दे देना चाहि। इस घटना को हम जैसे ही सदन चलेगा विधानसभा में उठाएंगे और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाएंगे और ऐसी सरकार में जहां कोई भी सुरक्षित नही है। इस सरकार के मुखिया को मुख्यमंत्री से इस्तीफा देकर मंदिर में जा कर पूजा पाठ करना चाहिए।

Show More

Related Articles

Back to top button