उत्तर प्रदेशवाराणसी

जीवन के लिए सांसे है जरूरी, पटाखों से बनाए दूरी

वाराणसी। नगर में बढ़ते प्रदूषण और कोरोना महामारी को देखते हुए काशी वासियों से इस बार दीपावली के पर्व में पटाखा ना बजाने एवं सिर्फ मिट्टी के दीये से दीपावली मनाने की अपील के साथ सामाजिक संस्था सुबह-ए- बनारस क्लब, लक्ष्मी हॉस्पिटल एवं हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज के संयुक्त बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, लक्ष्मी हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डॉ अशोक कुमार राय एवं कालेज की प्रिंसिपल डॉक्टर प्रियंका तिवारी के संयुक्त नेतृत्व में मैदागिन स्थित हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज के प्रांगण में स्कूली छात्राओं के हाथों में प्रतीकात्मक रूप से मिट्टी के दीये देकर शपथ दिलाया गया कि हमारी शपथ पूरी होगी पटाखों से दूरी होगी। हम सिर्फ मिट्टी के दीये से दीपावली मनाएंगे।

Breath is necessary for life - distance from firecrackers in varanasi

उपरोक्त अवसर पर बोलते हुए अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, डॉ. अशोक कुमार राय एवं डॉ प्रियंका तिवारी ने कहा कि कोरोना कॉल के महामारी मे लोग फेफड़ा एवं सांस के बीमारी से त्रस्त है। उसपर से बढ़ती प्रदूषण ने कोढ़ में खाज का काम किया है। ऐसे में जन जागरूकता के तहत हमें शपथ लेना होगा की। इस बार दीपावली पर हम ना तो पटाखा छोड़ेंगे और ना तो किसी को अपील के माध्यम से छोड़ने देंगे। हम सभी भाइयों-बहनों से पटाखा से दूरी बनाकर मिट्टी के दीये को जलाते हुए दीपावली मनाने की अपील करेंगे। तन और मन को स्वस्थ रखने के लिए हमें धुएं और तेज धमाके वाले पटाखों से दूरी बनानी होगी। पर्यावरण को साफ सुथरा और प्रदूषण मुक्त रखना हम सबकी जिम्मेदारी है।

गौरतलब है कि कोरोना काल मे वैसे ही लोगों का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। पटाखे जलाना सांस की बीमारी से परेशान लोगों के लिए जानलेवा साबित होगा। संस्था द्वारा सबसे पुरजोर ढंग से अपील किया गया कि वह इस दीपावली में अधिक से अधिक दीये जलाएं और पटाखों से दूरी बनाएं। कार्यक्रम में मुख्य रूप से अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, डॉ अशोक कुमार राय, प्रिंसिपल डा० प्रियंका तिवारी, कोषाध्यक्ष नंदकुमार टोपी वाले, उपाध्यक्ष अनिल केसरी, सहित कॉलेज की छात्राएं शामिल थी।

Show More

Related Articles

Back to top button