उत्तर प्रदेशसोनभद्र

पत्थर खदान गायत्री स्टोन में बोल्डर लदे टिपर की चपेट में आने से एक की मौत

सोनभद्र। जनपद में ओबरा थाना क्षेत्र के बिल्ली मारकुंडी पत्थर खनन क्षेत्र में आज एक पत्थर खदान गायत्री स्टोन में बोल्डर लदे टिपर की चपेट में आने से खदान मुंसी की मौके पर ही मौत हो गयी। मृतक मुंसी गिरीश पाण्डेय 40 वर्ष निवासी नरोत्तमपुर चतरा थाना पन्नूगंज का रहने वाला था। वहीं मृतक डाला चौकी क्षेत्र के नई बस्ती में पत्नी संजू और तीन छोटे बच्चे के साथ र​हता था। खदान मालिक की लापरवाही से नाराज परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस में हंगामा शुरू कर दिया। परिजनों का आरोप है कि खदान में कार्य के दौरान किसी भी प्रकार की सेफ्टी का ध्यान नही दिया गया। जिसकी वजह से ये हादसा हुआ वहीं परिजन अपने मागो पर अड़े हुए और उचित कार्यवाही ना होने पर आंदोलन की धमकी दे रहे है।

 

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए ई टेंडरिंग करके बड़े रकबे ने पट्टा देने का नियम भले ही बनाया हो। लेकिन खनिज विभाग और जिला प्रशासन इन नियमो का अनुपालन नही कराया जा रहा है। जिसका खामियाजा खनन क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिको को अपनी जान गवा कर भुगतना पड़ रहा है। आज ओबरा थाना क्षेत्र के बिल्ली मारकुंडी खनन इलाके के एक खदान में टिपर यानी छोटी ट्रक से कुचल कर खदान मुंसी की मौत हो गयी।

वहीं मृतक के परिजन मनोज देव पाण्डेय ने बताया कि मेरे बड़े पिता जी के लड़के जो डाला के नई बस्ती में रहकर बच्चो के पढ़ाई लिखाई के साथ पत्थर खदान गायत्री स्टोन में मुंसी का कार्य करते थे। खदान में बिना सेफ्टी के काम हो रहा था, खदान मालिक की अपनी टिपर अचानक बैक होकर धक्का मारते हुए सिर पर चढ़ गई, जिससे खदान में ही उनकी मौत हो गयी। वहीं अब तक प्रशासन या खदान मालिक की तरफ से हम लोगो से कोई बात नही की गई है। अगर इस तरह का रवैया रहा तो हम चक्का जाम करेंगे।

Show More

Related Articles

Back to top button